February 19, 2024

ब्रह्माकुमारीज़ नीलबड़ द्वारा पीस वीक नामक सप्ताहिक पहल की हुई शुरवात

Read Time:2 Minute, 57 Second

निलबड़, भोपाल

ब्रह्माकुमारीज़ नीलबड़ द्वारा पीस वीक नामक सप्ताहिक पहल की हुई शुरवात

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी की चांसलर प्रीति सलूजा मुख्य रूप से रही उपस्थित

मोमबत्तियां जलाकर दिवंगत आत्माओं को दिए शांति के प्रकंपन

ब्रह्माकुमारीज़, सुख शांति भवन, नीलबड़, भोपाल द्वारा पीस वीक नामक सप्ताहिक पहल शुरू की गई जिसके अंतर्गत भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ित तथा दिवंगत मनुष्य आत्माओं को एवं पीड़ित परिवारों को शांति का दान दिया जा रहा है एवं ध्यान के माध्यम से शुभ भावनाओं तथा शांति की शक्ति का महत्व समझाया जा रहा है।

इसी कड़ी में दो कार्यक्रम आयोजित किए गए। पहला कार्यक्रम भोपाल एयरपोर्ट में आयोजित हुआ जिसमें एयरपोर्ट प्रमुख के एल अग्रवाल, कल्याणमई संस्था की प्रेसिडेंट ऋचा अग्रवाल के साथ अन्य सभी अधिकारी, कर्मचारी भी उपस्थित रहे। संस्था की ओर से कार्यक्रम में बीके साक्षी, बीके राम एवं बीके डॉ प्रियंका उपस्थित हुए। कार्यक्रम का संचालन एयरपोर्ट ऑफिसर महिमा द्वारा किया गया।

दूसरे कार्यक्रम का आयोजन सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी में किया गया जहां यूनिवर्सिटी की चांसलर प्रीति सलूजा सहित अन्य शिक्षक गण उपस्थित रहे। संस्था की ओर से कार्यक्रम में बीके हेमा, बीके डॉ देवयानी एवं बीके डॉ दिलीप नालगे जी उपस्थित हुए।

दोनों ही कार्यक्रमों की शुरुआत गैस त्रासदी से जुड़ी जानकारी से हुई, साथ ही ब्रह्माकुमारीज़ संस्था का परिचय दिया गया। तत्पश्चात राजयोग ध्यान द्वारा शांति का दान देने की विधि को रेखांकित किया गया एवं कार्यक्रम के अंत में सभी द्वारा मोमबत्तियां जलाकर मेडिटेशन के माध्यम से पीड़ित तथा दिवंगत मनुष्य आत्माओं एवं पीड़ित परिवारों को परमपिता परमात्मा को साथ रखते हुए शांति के प्रकंपन दिए गए जिससे उनके जीवन में शांति का प्रवास हो। सभी उपस्थित श्रोताओं ने कार्यक्रम का लाभ लिया एवं शांति की अनुभूति की।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post माननीय राज्यपाल बनवारीलाल ने लोगों से की ब्रह्माकुमारीज़ से जुड़ने की अपील
Next post भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ितों के लिए कार्यक्रम
Close