February 26, 2024

श्रेष्ठ विचार ही सुखी जीवन का आधार है – बी. के. सूरज

Read Time:5 Minute, 5 Second

वर्धा, महाराष्ट्र

श्रेष्ठ विचार ही सुखी जीवन का आधार है – बी. के. सूरज

जीवन को सुखमय बनाने के लिए विचारों को श्रेष्ठ बनाना आवश्यक

मेडीटेशन द्वारा नकारात्मक विचारों पर विजय प्राप्त करने के दिए टिप्स

वर्धा सेवाकेंद्र द्वारा सुखी जीवन का आधार- श्रेष्ठ विचार इस विषय पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम में विशेष वक्ता के रूप में माउंट आबू से आये मोटिवेशनल स्पीकर  बी.के. सूरज तथा ब्रह्माकुमारी गीता थे। सभा मे उपस्थित सभी श्रोताओं को मार्गदर्शन करते हुवे सूरज भाई ने कहा कि, मानव जीवन एक अनमोल उपहार है। सफलतापूर्वक सुख-शांति से जीवन जीना भी एक कला है। आज चारो और अशांति, दुख, भय, चिंता का माहौल है। ऐसे में हर कोई सुख, शांति खुशी से जीवन जीने की कला सीखना चाहता है। जीवन को सुखमय बनाने के लिए हमे सबसे पहले अपने विचारों को स्वच्छ,श्रेष्ठ बनाना है और इसमें मेडीटेशन का बहोत बडा योगदान है। मेडीटेशनद्वारा हम नकारात्मक विचारों के ऊपर विजय प्राप्त कर सकते है। मार्गदर्शन के साथ साथ सूरज भाई ने सभी को शान्ति का गहन अनुभव भी कराया। गीता बहेन ने, नकारात्मक वीचारो को हम अपने सकारात्मक व्हायब्रेशन के द्वारा कैसे दूर करे और इसमें राजयोग मेडिटेशन की क्या मुख्य भूमिका है इसके ऊपर प्रकाश डाला। वर्धा सेवाकेंद्र संचालिका माधुरी दिदि इन्होंने मेडिटेशन का महत्व बताते हुवे सभी का शब्दो से स्वागत किया। श्रीमती सरिता गाखरे,अध्यक्ष जिला परिषद वर्धा इन्होंने सकारात्मक और रचनात्मक जीवन पद्धती के ऊपर मार्गदर्शन किया।


इस कार्यक्रम में वर्धा शहर के  गणमान्य व्यक्ति जिल्हा परिषद अध्यक्षा मा. सरिता गाखरे, शालिग्राम टिबड़ेवाल, योगेंद्र फत्तेपुरियाजी, सूर्यकुमार गांधी, गौरीशंकर टिबड़ेवाल, जगदीश पोद्दार, सुधीर भाई पांगुळ, अनिल भाई नरेडी, समीर शेंडे, डॉ. महोदया सर, शैलेशजी बत्रा, गोपालजी चौबे, मुकुंद भाई चौबे, तुलसी भाई आडवाणी, वर्धा सेवाकेंद्र संचालिका ब्रह्माकुमारी माधुरी बहेन, मधु बहेन,अपर्णा बहेन इत्यादि उपस्थित थे। इनके सभी के हस्तोद्वारा दिप प्रज्ज्वलन हुवा। वर्धा शहर के सभी विविध सामाजिक संघटना तथा वरिष्ठ नागरिकों द्वारा सूरज भाईजी को शॉल, श्रीफल और मोमेंटो देकर सत्कार किया गया।इसमे साई मंदीर ट्रस्ट, सार्वजनिक वाचनालय, जनहीत मंच, कोचिंग क्लास टीचर फेडरेशन ऑफ महाराष्ट्र, मयूर इलेक्ट्रॉनिक, लायन्स क्लब इत्यादि थे।


इसी दिन वर्धा के कनेक्शन में देवली उप सेवाकेंद्र के नए भवन ‘दिव्य दर्पण’ का भी उदघाटन हुवा । इस उदघाटन में खास सांसद रामदासजी तडस, जेष्ठ समाज सेवक मोहन बाबूजी अग्रवाल, नगराध्यक्ष सूचीता ताई मड़ावी, नगर परिषद उपाध्यक्ष नरेंद्रजी मदनकर, मिलिंद भेंडे, यवतमाल सेवाकेंद्र संचालिका मंगला दीदी, नागपुर क्षेत्र संचालिका रजनी दिदि इत्यादि मान्यवर उपस्थित थे। इस कार्यक्रम के उपलक्ष में बी. के. सूरज भाई ने परमात्मा का परिचय देते हुवे ध्यान और उसके स्थान (घर) का महत्व बताया। इस कार्यक्रम में कुमारी वैष्णवी और चंद्रकांत सहारे ने उत्कृष्ट नृत्य प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम का संचालन दर्शना बहेन ने किया तथा आभार प्रदर्शन बी.के. अविनाश भाई नेकिया। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी भाई बहनों ने सहयोग दिया। इस कार्यक्रम में भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।

About Post Author

Happy
Happy
100 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post डिमोव शिवसागर असम के तीन साल पूरे होने पर वार्षिक उत्सव का आयोजन
Next post सीडीएस चीफ बिपिन रावत सभी के निधन पर दादी रतनमोहिनी ने दी श्रद्धांजलि, शोक सभा का आयोजन
Close